forgetful

क्या आपकी गिनती भुल्लकड़ों में की जाती है ? तो जानिये कुछ खास तरीके अपनी मेमोरी शार्प करने के

आज हर कोई इतना व्यस्त है की न उसके पास आराम से बैठ कर खाने का समय है और न ही पर्याप्त नींद लेने का । इतनी भागदौड़ वाली जिंदगी में हर मनुष्य के बस की बात नहीं है सब कुछ याद रखना और बिगड़ा खान पान भी और कई सारी चीजें भी हमारी मेमोरी पर असर डालती है । जिसका नतीजा हम धीरे धीरे हमारी याददाश्त कमजोर होते जा रही है और इस वजह से हम कई सारी  जगह शर्मिंदगी का शिकार हो जाते है या हंसी का पात्र हो जाते है । अगर आपकी मेमोरी शार्प होगी तो आपके सारे काम आसान होंगे और आप अपने काम को भी सही समय पर कर पायेंगे । और आप तारीफ़ के काबिल होंगे ,लोग आपकी तारीफ़ करेंगे । पर यदि आप भी है कमजोर याददाश्त वाले तो हमसे जानिये याददाश्त तेज करने के कुछ आसान तरीके –



गहरी नींद जरुरी –

नींद हमारे लिए उतनी ही जरुरी है जितना हमें जीने के लिए आहार की आवश्यकता होती है । यहाँ गहरी नींद से मतलब यह है की जब आप उठे तो आपको फ्रेश फील होना चाहिए । आजकल मोबाइल ,लैपटॉप , इन्टरनेट का उपयोग इतना बढ़ गया है की हम अपनी नींद खराब करने में भी पीछे नहीं हटते और रात में पर्याप्त नींद नहीं ले पाते जिसकी वजह से हम दिन भर थका थका महसूस करते है और किसी भी चीज में ध्यान नहीं लगा पाते और नतीजा यह होता है की हम धीरे धीरे अपनी याददाश्त कमजोर करते जाते है । नींद न लेने से हम अपनी याददाश्त को हमेशा के लिए खो सकते है ।

काम को दोहराएँ

जब आप किसी काम को बार बार करते है तो आपका दिमाग उस पर अपनी पकड़ बना लेता है और आपको उसे याद नहीं रखना पड़ता । किसी बात को याद रखने के लिए उसे मन ही मन दोहराएँ । पुरानी मेमोरी से लिंक बनाये और उसे महसूस करने की कोशिश करें । जब आपका दिमाग उस बात से पूरी तरह परिचित हो जाएगा तो आप उसे कभी नहीं भूलेंगे ।

ब्रेन गेम्स खेले

अगर आप अपने दिमाग को शार्प रखना चाहते है तो आपको दिमागी कसरत करनी चाहिए । आप ब्रेन गेम्स खेल सकते है । सुडोक और वर्ग पहेली भी हेल्पफुल साबित होती है ।

खुद से करें बातें

सामान्यतः अगर हम खुद से बाते करते है तो लोग हमें पागल कहते है पर खुद से बात करना आपके लिए एक दवा के जैसे साबित हो सकता है , चाहे वह याददाश्त बढाने के लिए हो या कोई परेशानी हो आपको । आपका खुद से बात करना आपकी समस्याओं को आधी कर देगा । क्योंकि खुद से बात करने से हम चीजों को बेहतर समझ सकते है । खुद को समझाने का प्रयास करें ।



चीजों को लिंक करना सीखें

दिमाग उस चीज को बेहतर तरीके से याद रखता है ,जो पहले से मौजूद किसी चीज से लिंक हो । जब भी आप कोई नई चीज देखें ,तो उसे पहले से याद किसी चीज से लिंक करने का प्रयास करें । यह लिंक ,रंग ,स्वाद ,दृश्य ,शब्द किसी भी आधार पर हो सकता है । अगर आप नयी चीजों को पुरानी चीजों या लोगों से लिंक करना शुरू कर देंगे तो आपकी मेमोरी काफी मजबूत बन सकती है ।

याद रखने का अभ्यास करें

एक महीने तक खास अभ्यास करें । रात को सोने से पहले 10 मिनट दिन भर में किये कार्यों के बारे में विचार करें । इस दौरान किन किन लोगों से मिले ,यह भी ध्यान दे । कमरें में रखी चीजों को एक बार देखकर दुसरे कमरे में जाकर उन चीजों को कागज पर लिखने का अभ्यास करें ।

वॉक से मिलेगी मेमोरी

शोधकर्ताओं का मानना है की जो लोग नियमित रूप से वॉक पर जाते है , उनका हिप्पोकैम्पस वॉल्यूम बढ़ता है । इससे मेमोरी शार्प होती है । सुबह की सैर दिमाग के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकती है ।

सही खान पान का असर

दिमाग को शार्प बनाने के लिए खान पान पर ध्यान देना चाहिए । भोजन में केला , सेब ,गहरे हरे रंग की सब्जियां ,अदरक ,गाजर और टमाटर का सेवन करना चाहिए । काजू ,बादाम और अखरोट भी खाने चाहिए । अच्छी याददाश्त के लिए आप मिठाइयाँ और चॉकलेट भी खा सकते है ।



सुगंध व चुइंगम से फायदा

वर्ष 2003 में हुए एक शोध से पता लगा है कि अगर आप सुगंध के बीच में रहते है तो आपकी मेमोरी शार्प होती है । इसके अलावा यूनाइटेड किंगडम में हुआ एक अन्य शोध यह भी बताता है कि चुइंगम चबाने से भी याददाश्त पर पॉजिटिव असर पड़ता है । इसलिए आपको अपने आसपास या पढाई के कमरे को सुगन्धित रखने का प्रयास करना चाहिए ।

Post Author: swati mishra

Leave a Reply

Your email address will not be published.