आजादी से लेकर अब तक के भारत के प्रधानमंत्री एवं उनका विवरण

जब भारत को २०० साल की गुमाली के बाद अंग्रेजो से आजादी मिली ,तब भारत में किसी को पहली बार प्रधानमंत्री बनाया गया । इससे पहले देश में हर राज्य में अलग अलग राजा हुआ करते थे जो अपने अनुसार अपने राज्य में राज किया करते थे । आजादी के बाद पुरे देश में एक प्रधानमंत्री बनाने का एकमात्र उद्देश्य यही था की देश में एकजुटता और एक सत्ता हो । भारत के संविधान में प्रधानमंत्री को सर्कार का प्रमुख माना गया है ।उन्हें राष्ट्रपति का प्रमुख सलाहकार कहा जाता है ,साथ ही वे लोकसभा में बहुमत पार्टी के लीडर होते है । प्रधानमंत्री भारत की सरकार को सुचारू रूप से चलाते है ।



प्रधानमंत्री संसद में केबिनेट मंत्रिमंडल के प्रमुख होते है । प्रधानमंत्री के द्वारा बनाई गई केबिनेट मंत्रिमंडल की समिति में वे जब चाहे बदलाव कर सकते है ,वे जिसे चाहे निकल सकते है अथवा उनके पद को बदल सकते है । प्रधानमंत्री की मृत्यु या इस्तीफे से उनकी मंत्रिमंडल टूट जाती है ।केंद्रीय मंत्रिमंडल राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त किया जाता है ,जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री करते है जो कार्यकारी के मामलों को देखता है ।प्रधानमंत्री को लोकसभा में हमेशा बहुमत बनाये रखना पड़ता है यदि राष्ट्रपति द्वारा निर्धारित बहुमत नहीं मिलते है तो उनकी सर्कार गिर जाएगी ।

प्रधानमंत्री को अपना पद मिलने के ६ महीने के भीतर ही संसद में सदस्यता लेनी पडती है । भारत का प्रधानमंत्री सरकार के मुख्य होता है ,उन पर कार्यपालिका शक्ति की जिम्मेदारी होती है ।

प्रधानमंत्री के कार्य एवं जिम्मेदारी-

प्रधानमंत्री भारत सर्कार के कार्य व अधिकार को सुचारू ढंग से चलता है । प्रधानमंत्री को देश के राष्ट्रपति द्वारा संसद बुलाया जाता है ,उन्हें बहुमत पार्टी के लीडर के रूप में बुलाया जाता है ,जहाँ उन्हें अपनी केबिनेट मंत्रिमंडल का गठन करना होता है व सबको काम समझाना होता है ।प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति मिलकर केबिनेट के मंत्रियों के नाम तय करते है व मंत्रियो के दिए जाने वाले काम भी प्रधानमंत्री की सलाह व सहायता से होता है । प्रधानमंत्री मुख्य रूप से इन कामो को देखते है –

केबिनेट कमिटी का चुनाव करना


लोक शिकायत व पेंशन मंत्रालय

योजना मंत्रालय

परमाणु सुरक्षा विभाग

अन्तरिक्ष विभाग

देश के सभी मुख्य कामो में प्रधानमंत्री की उपस्थिति होना अनिवार्य है ,बड़े रूप में होने वाली मीटिंग ,इन्टरनेशनल मीटिंग में प्रधानमंत्री को हिस्सा लेना अनिवार्य है ।

भारत के प्रधानमंत्री बनने के लिए पात्रता-

  • भारत देश का नागरिक होना अनिवार्य है ।
  • लोकसभा व राज्यसभा के सदस्य हो ,अगर प्रधानमंत्री बनने के बाद वे लोकसभा व राज्यसभा के सदस्य नहीं होते तो उन्हें ६ महीनें के अन्दर इनकी सदस्यता पाना जरुरी होता है ।
  • अगर लोकसभा के सदस्य है तो उम्र २५ साल व उससे अधिक व राज्यसभा के सदस्य है तो उम्र 30 साल या उससे अधिक होनी चाहिए ।
  • किसी भी प्राइवेट काम को सरकार के काम से नहीं जोड़ा जा सकता है ।
  • अगर कोई भी प्रधानमंत्री पद को हासिल कर लेता है ,तो उसे अपनी प्राइवेट या सरकारी पद से इस्तीफा देना होगा ।
  • उसका नाम किसी भी अपराध से जुड़ा न हो ,उसके ऊपर कोई कानूनी मुकदमा न चल रहा हो ।

1947 से लेकर अब तक के प्रधानमंत्री की सूची एवं उनका विवरण-

प्रधानमंत्री के नाम                                जन्म काल –                 कार्यकाल                          राजनीती पार्टी           चुनाव शांति

पंडित श्री जवाहरलाल लाल नेहरु    1889 से 1964      15 अगस्त 1947 से 27 मई 1964           भारती राष्ट्रिय कांग्रेस        फूलपुर

श्री गुलजारी लाल नंदा                    1898 से 1998     27 मई 1964 से 9 जून  1964                भारती राष्ट्रिय कांग्रेस        साबरकान्ठ

श्री लालबहादुर शास्त्री                      1904 से 1966    9 जून 1964 से 11जनवरी 1966             भारती राष्ट्रिय कांग्रेस        इलाहबाद

श्री गुलजारी लाल नंदा                       1898 से 1998   11जनवरी 1966 से 24 जनवरी 1966       भारती राष्ट्रिय कांग्रेस       साबरकांठ

श्रीमती इंदिरा गाँधी                          1917 से 1984    24 जनवरी 1966 से 24 मार्च 1977          भारती राष्ट्रिय कांग्रेस       रायबरेली

श्री मोरारजी देसाई                           1896 से 1995    24 मार्च 1977 से 28 जुलाई 1979           जनता पार्टी                    सूरत

श्री चरण सिंह                                  1902 से 1987    28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980       जनता पार्टी                    बाघपत

श्रीमती इन्दिरा गाँधी                          1917 से 1984    14 जनवरी 1980 से 31 अक्टूबर 1984    भारती राष्ट्रिय कांग्रेस       मेदक

श्री राजीव गाँधी                                 1944 से 1991    31अक्टूबर 1984 से 2 दिसम्बर 1989     भारती राष्ट्रिय कांग्रेस       अमेठी

श्री वी. पी. सिंह                                 1931 से 2008     02 दिसम्बर 1989 से 10 नवम्बर 1990   जनता दल                  फतेहपुर

श्री चन्द्र शेखर                                  1927 से 2007     10 नवम्बर 1990 से 21 जून 1991         समाजवादी जनता पार्टी   बल्लिया

श्री वी. पी. नरसिम्हा राव                     1921 से 2004     21 जून 1991 से 16 मई 1996             भारती राष्ट्रिय कांग्रेस      नन्ध्हाल

श्री अटल बिहारी वाजपेयी                     1924               16 मई 1996 से 01 जून 1996             भारतीय जनता पार्टी      लखनऊ

श्री एच. डी.देवे गोडा                            1933                01 जून 1996 से 21 अप्रैल 1997         जनता दल                  कर्णाटक

श्री इंद कुमार गुजराल                        1919 से 2012      21 अप्रैल 1997 से 19 मार्च 1998        जनता दल                  बिहार

श्री अटल बिहारी वाजपेयी                      1924                19 मार्च 1998 से 22 मई 2004           भारतीय जनता पार्टी     लखनऊ

डॉ. मनमोहन सिंह                                1932                 22 मई 2004 से 16 मई 2014           भारती राष्ट्रिय कांग्रेस    असम

श्री नरेन्द्र मोदी                                     1950               16  मई  2014 से अब तक                  भारतीय जनता पार्टी    बनारस

 

Post Author: swati mishra

Leave a Reply

Your email address will not be published.